सुविचार

नव वर्ष के शुभ अवसर पर शब्द क्रान्ति की तरफ से हार्दिक बधाई एवं नव वर्ष की शुभकामनाये । ...

15 अगस्त 2016

हे वीर शहीदों (देशभक्ति गीत)

हे वीर शहीदो, हे वीर शहीदों ।
जाने न दूँगा तेरे शहीदी बेकार ।
चाहे धरा पर आँधी आये ।
चाहे तन पर व्याधि आये ।
चाहे राज पर खाज आये ।
चाहे धरा पर बाज आये ।
एक मरे तो करूँगा सौ तैयार ।
हे वीर शहीदो, हे वीर शहीदों ।
जाने न दूँगा तेरे शहीदी बेकार ।
इस गण का तंत्र मै हूँ ।
सब मंत्रों का मंत्र मै हूँ ।
हाथियों का दंत मै हूँ ।
शिवजी सा निलकंठ मैं हूँ ।
वक्त पड़े तो उठा लूँगा सारा संसार ।
हे वीर शहीदो, हे वीर शहीदों ।
जाने न दूँगा तेरे शहीदी बेकार ।
चाहे कुकुर कितनो भौके ।
चाहे सुकर कितनों चौके ।
चाहे सीमा कितनो लाघें ।
चाहे कूटक कितनों बाँधे ।
पलक झपकते ही फैला दूँगा अंधकार ।
हे वीर शहीदो, हे वीर शहीदों ।
जाने न दूँगा तेरे शहीदी बेकार ।

3 टिप्‍पणियां:

  1. ब्लॉग बुलेटिन टीम की ओर से आप सभी को ७० वें स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं|
    ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन, "ब्लॉग बुलेटिन का स्वतंत्रता दिवस विशेषांक “ , मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    उत्तर देंहटाएं