सुविचार

होली के शुभ अवसर पर शब्द क्रान्ति की तरफ से हार्दिक बधाई एवं नव वर्ष की शुभकामनाये । ...

18 दिसंबर 2016

कहाँ है मेरा भारत देश...

कल रांची में एक छात्रा के साथ गैंग रेप की बुरी तरह रूह को कंपकपाने वाली घटना से मौत हुई..इस पर तड़पती मेरी चंद पंक्तियां...

टूटे दिल,बिखरी इश्क,
रूठे चेहरे, गिरे वेश।
ढूंढ रहा हूँ इन सब में,
कहाँ हैं मेरा भारत देश ।

खोटी इंसानियत, लूटते जिस्म,
सोई मानवता, बदलते परिवेश ।
ढूंढ रहा हूँ इन सब में,
कहाँ है मेरा भारत देश।

काली निशा, उजाली उषा,
कोरी कल्पना, बहते उपदेश।
ढूंढ रहा हूँ इन सब में,
कहाँ हैं मेरा भारत देश।
                           - जेपी हंस

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें